बेशर्म होती है यूपी की सरकारें। क्‍या योगी, क्‍या सपा-बसपा

: हाथरस कांड में 15 दिन बाद दम तोड़ा बलात्‍कार पीडि़त बिटिया ने : सवाल रेप कर रीढ़ तोड़ना व जुबान काटना नहीं, बिटिया से दरिंदगी की हिमाकत कैसे हुई : आठ दिनों तक रिपोर्ट दर्ज नहीं कर पायी थी योगी-पुलिस : कुमार सौवीर लखनऊ : हाथरस में जिस युवती के साथ पाशविक हादसा हुआ […]

आगे पढ़ें

साजिश सा है गायत्री प्रजापति की जमानत पर खबरों का लहजा

: एक वक्‍त हुआ करता था जब गायत्री के जेल-गमन पर राष्‍ट्रीय चर्चाएं होती थीं : अब चैनल खामोशी अख्तियार किये हैं, असली वकील के नाम तक से परहेज : दिग्‍गज वकील टापते ही रहे, जीत गयी चीफ जस्टिस की बेटी : कुमार सौवीर लखनऊ : याद कीजिए वह दौर, जब अखिलेश यादव सरकार में […]

आगे पढ़ें

ताजिया फाड़ने की अफवाह तो दैनिक जागरण ने फैलायी थी

: जौनपुर में हंगामा, बिलखते तीन सौ अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज : कट्टर वहाबी मुसलमानों का केंद्र माना जाता है मुल्‍ला टोला : अनजान पुलिस और प्रशासन खर्राटे भरता रहा : कुमार सौवीर जौनपुर : आइये, आज एक कड़वी हकीकत से रू-ब-रू होने का गूदा बटोरिये, जो बनारस के प्रख्‍यात होली कवि-सम्‍मेलन के सिरमौर […]

आगे पढ़ें

झूठ सीएमओ का, शपथपत्र डीएम का

: योगी-कोप से बचने के लिए हरदोई प्रशासन झूठ पर आमादा : कोरोना से एक दिन तक नहीं मिली राहत, दम टूटा : सीएमओ बोले कि मौत पहले ही हो चुकी थी, फिर एम्‍बुलेंस क्‍यों भेजी गयी, सवाल अनुरुत्‍तरित : दोलत्‍ती संवाददाता हरदोई : बुधवार को एक 62 वर्षीय बुजुर्ग कोरोना संक्रमित हो गया। खबर […]

आगे पढ़ें

संविदाकर्मियों से 50-50 हजार मांग रहे थे जौनपुर के सीएमएस

: महिला अस्‍पताल के अधीक्षक थे रामसेवक सरोज, सुल्‍तानपुर में उनकी बेईमानी पर ग्रंथ है : अस्‍पताल को जातीय युद्ध और भ्रष्‍टाचार की एक डरावना युद्धक्षेत्र में तब्‍दील किया डॉ सरोज ने : संविदा-चार दोलत्‍ती संवाददाता लखनऊ : (गतांक से आगे) जिला महिला चिकित्सालय के अधीक्षक के पद पर 2017 में सुल्तानपुर से स्थानांतरित होकर […]

आगे पढ़ें

सरकारी डॉक्‍टरों को घूस चाहिए, औरत चाहिए और सम्‍मान भी

: जांच का बहाना, पांसा ठीक तो रकम और स्‍त्री-देह भी उपलब्‍ध : तनाव में हैं 181, एड्स कंट्रोल अभियान व नर्सिंग : मिर्जापुर, हरदोई, सीतापुर, लखीमपुर, जौनपुर और बस्‍ती वगैरह में ऐसे हादसे आम : संविदा-दो कुमार सौवीर लखनऊ : ( गतांक से आगे) योगी-सरकार में और चाहे कुछ हुआ न हो, लेकिन सरकारी […]

आगे पढ़ें

सच नहीं, झूठ के सामने घुटने टेके योगी-सरकार ने

: बलिया में पत्रकार हत्याकांड में विपक्ष ने आग लगायी, योगी-सरकार बचाव में : रतन की हत्या अवैध धंधों में हुई, पत्रकारीय दायित्वों से नहीं : पत्रकारों और संगठनों ने सिर्फ अपना धंधा चमकाया, छवि धूमिल हुई योगी की : कुमार सौवीर : बलिया : बिहार से सटे बागी बलिया में एक व्यक्ति की हत्या […]

आगे पढ़ें

बलिया के पत्रकार चाटेंगे शिलाजीत। पूंछ रखेंगे पिछवाड़े में

: रतन की हत्या दो दिन पहले ही करने की योजना थी, कारण अवैध-संबंध भी : पत्रकारों की औकात उनकी पूंछ से आंकिये : दोलत्ती पर हमला करेंगे सियार, साहस तो देखिये : कुमार सौवीर बलिया : चूल्हे पर भोजन पकाने वाली पुरानी पीढी हमेशा पतीली में खुदबदाते चावल के दो-चार दानों को उंगलियों से […]

आगे पढ़ें

न जाने कहां छिपे-दुबके रहे “श्वान-श्रृगाल”

: न आजतक का अकेला आया, और न पशुवत पशुपतिनाथ : वार्तालाप आमंत्रण हेतु कई संदिग्ध फोन आये : मैंने अपनी जगह आमंत्रित किया, उनके यहां नहीं : कुमार सौवीर लखनऊ : पिछले तीन दिनों से बलिया में हूँ। बंसी-बांसुरी बजाते इधर-उधर भ्रमण कर रहा हूं। लेकिन पत्रकारिता की एक भी “विष-कन्या” मेरे सामने नहीं […]

आगे पढ़ें

ये डॉक्टर हैं या कोरोना-अखाड़ा के संरक्षक ?

: ऐसे तो यूपी में कोरोना बनवा लेगा हवेली: विधान परिषद के पूर्व सभापति को भी फंसा दिया : सत्यानाश हो ऐसी पैथोलॉजिस्टों का, मुये सिर्फ नोट लूटते हैं : कुणाल पति त्रिपाठी गोरखपुर : एक तरफ कोरोना को लेकर समाज में डरावना माहौल, कोविद अस्पतालों में अराजकता, निजी अस्पतालों में इलाज के नाम पर […]

आगे पढ़ें

साफ बात। निजी झगडे में मारा गया, तो मुआवजा क्यों

: धाकड था रतन, लेकिन खबरची नहीं : दो हफ्ता पहले कोषागार में एक पोर्टल-संचालक को सरेआम में पीटा था रतन और उसके साथी ने : कुमार सौवीर बलिया : मकतूल का नाम: रतन सिंह। आय का स्रोत: बहुआयामी धंधा। घोषित पहचान: पत्रकारिता। पहचान में विशेषज्ञता: बेहद कमजोर। पत्रकारिता का गुण: विशुद्ध जुगाड़। पत्रकारिता से […]

आगे पढ़ें

बलिया पत्रकार हत्याकांड: असलियत तो कुछ और ही है

: दूकान चमकाने में जुटे खानदानी जायदाद बने पत्रकार संगठन : सहारा समय के रतन सिंह की हत्या में लकडबग्घों ने खोला मोर्चा : बलिया में दोलत्ती डॉट कॉम ने डेरा डाला : कुमार सौवीर लखनऊ : विगत 24 अगस्त-20 को बलिया के फेफना में हुई पत्रकार रतन सिंह की हत्या के बाद से ही […]

आगे पढ़ें

बनारस का डीएम: उतावली का तेल इतना क्‍यों पोत लिया

: योगी-सरकार की खटिया न खड़ी करो : अक्‍लन, दखलन, शक्‍लन और मसलन : तब न महादेव बच पाते और न काशी की जरूरत : नोटिस पर दस्‍तखत नहीं : कुमार सौवीर लखनऊ : चकाचक बनारसी। वे एक अप्रतिम शख्सियत थे। कविता में बोर करने वालों से बिलकुल अलहदा। टू द प्‍वाइंट बात करते थे। […]

आगे पढ़ें

चूतिया हमेशा चूतिया ही रहेगा, जैसे बनारस का डीएम

: चूतिया शब्‍द मादा-अंग का परिचायक शब्‍द नहीं, बल्कि स्‍लैंग है, अर्थ है मूर्ख-प्रवर : काशी के व्‍यवसायी-नेता पर केंद्रित आलेख का अगला अंक : कुमार सौवीर लखनऊ : मेरी एक नयी, लेकिन बेहतरीन महिला मित्र से आज अचानक एक लाजवाब चर्चा हो गयी। वे एक मेडिकल कालेज में बच्‍चों के रोग की शिक्षक हैं। […]

आगे पढ़ें

तनी रुका रजा। डीएम खौखियावत बा

: मुख्यमंत्री और व्यापारी नेता के बीच हुई बातचीत में मूसरचन्द की तरह कूद पड़े बनारस के डीएम : योगी की बात वायरल करने पर नेता को नोटिस : कुमार सौवीर लखनऊ : अमिताभ बच्चन ने करीब पचीस बरस पहले किसी फिल्म में एक डॉयलॉग बोला था कि एक थे सत्ते, एक थे फत्ते और […]

आगे पढ़ें