दुनिया के संकटों का समाधान हो सकता है पर्यूषण परंपरा

: मिच्छामी दुक्कड़म : मुझे मेरी “…” दुष्टताओं के लिए क्षमा कीजिए, मुझसे भूल हुई : अहंकार को क्षण-भर में पिघला सकती है क्षमा-याचना : त्रिभुवन उदयपुर : जैन पर्यूषण परंपरा का यह महान वाक्यांश समूची दुनिया के संकटों का समाधान हो सकता है, लेकिन यह शून्य होकर रह गया है। आपने या मैंने यह […]

आगे पढ़ें

16 लाख में एक भी न था, जो सुशांत को समझता

: सुशांत सिंह स्‍मृति-शेष : जीवन के ऑर्गेज्‍म का सुख शायद ही किसी को मिल पाये : सेक्स, कुंठाओं के दौर में यदि प्रेम-पगा सखा है तो वह भाग्यशाली : ज़िन्दगी को चाहिए एक दोस्त जो रूह की कराह को सुन ले : त्रिभुवन उदयपुर : अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने तीन जून को माँ […]

आगे पढ़ें

गोरक्षा के लिए कड़े कानून, बेटियों को सताने पर कोई सख्‍ती नहीं ?

: माना कि औरतों के मामले में बेहद कट्टर होता है मुसलमान, लेकिन यह आंकड़े भी तो देख लो हिन्‍दू-समाज का :  आज-तक की श्‍वेता सिंह की रिपोर्ट की धज्जियां उड़ा रहे हैं दैनिक भास्‍कर वाले त्रिभुवन : औरत को तीन तलाक और परित्यक्त, दहेज पीड़िता में मत बांटो : त्रिभुवन उदयपुर : बीती रात […]

आगे पढ़ें

देह में कोख का दंश: महिला त्रस्‍त, पुरूष मस्‍त

: कोख पर कोई कानून बनाने की बात केवल स्‍त्री के खाते में होनी चाहिए : बिना विवाह के शारीरिक सम्‍बन्‍ध बनाना महिला के लिए त्रासद, पर पुरूष के लिए बेफिक्र : अब जरूरी बात तो यह है कि कोख के साथ पुरूष के लिए भी कड़ा कानून बनाया जाए : त्रिभुवन उदयपुर : पुरुष […]

आगे पढ़ें