इश्‍क में गिरफ्तार एमपी के डीजीपी ने बीवी को कूटा

दोलत्ती

: वरिष्‍ठतम आईपीएस अधिकारी पुरुषोत्तम शर्मा एक युवती के घर बरामद हुए : यह मेरा घरेलू मामला है, रिश्‍ते तबाह हो गये : शर्मा का बयान कि सरकार मुझ पर चाहे तो कार्रवाई कर ले :
दोलत्ती संवाददाता
भोपाल : खाकी-रंग ने मध्‍यप्रदेश में घरेलू स्‍तर पर भी अपनी नाक कटवाना शुरू कर दिया है। लेकिन आज नंगा नाच तब हुआ, जब एमपी में पुलिस महानिदेशक स्‍तर के अधिकारी और वरिष्‍ठतम आईपीएस अफसर ने अपनी बीवी को अपने ही घर में पटक कर भल-भर मारा और उनके झोंटे भी नोंचे। बाद में इस मामले में उनके ही एक बेटे ने अपने ही पिता के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। बेटे ने सीधे प्रदेश के सीएम, गृहमंत्री, मुख्‍य सचिव और डीजीपी को पत्र लिख कर अपने पिता के खिलाफ आपराधिक मामलों में दर्ज करने की मांग की है। उधर खबर है कि इस अफसर की पत्‍नी ने भी अपने पति पर दुराचरण और मारपीट का मामला दर्ज कराया है।
यह प्रकरण है एमपी में डीजीपी समकक्ष अधिकारी पुरुषोत्‍तम शर्मा का। और यह मामला बीती शाम को हुआ। दरअसल, पुरुषोत्‍तम शर्मा और उनकी पत्‍नी के बीच करीब डेढ़ दशको से दाम्‍पत्‍य संबंधी तनाव चल रहा है। लेकिन बीती शाम उनकी पत्‍नी ने राजधानी के एक अपार्टमेंट में पहुंच कर अपनी पत्‍नी को तब पकड़ा, जब वे एक कम उम्र की युवती के साथ अकेले में बैठे थे। हालांकि उस दौरान इन दोनों के बीच सहज बातचीत ही चल रही थी। लेकिन युवती ने जिस तरह के कपड़े पहन रखे थे, और उसके पहले उस युवती ने अपने घर के सारे नौकरों को घर से हटा दिया था, उससे संदेह उगने लगा।
बहरहाल, इस छापामारी के बाद शर्मा घर से चले गये, लेकिन शाम को उन पति-पत्‍नी में जमकर मारपीट हुई। पति ने पत्‍नी के बाल पकड़ कर उसे बुरी तरह पीटा, तो उसकी पत्‍नी ने शर्मा को कैंची मार दी। बाद में प्रदेश में तैनात भारतीय राजस्‍व सेवा के अधिकारी पार्थ शर्मा ने अपने पिता के खिलाफ मुख्‍यमंत्री, गृहमंत्री, मुख्‍य सचिव और डीजीपी को पत्र लिख कर पिता पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है।
आपको बता दें कि इससे पहले भी शर्मा लगातार विवादों में रहे हैं। एमपी एसटीएफ के डीजी रहते हुए भी पुरुषोत्तम शर्मा सुर्खियों में थे। हनीट्रैप कांड के दौरान इनका नाम खूब उछला था। साथ ही प्रदेश से बाहर एसटीएफ के एक प्लैट की चर्चा भी खूब हुई थी। तकरार यहां तक बढ़ गया था कि प्रदेश के डीजीपी और ये आमने-सामने आ गए थे। उसके बाद तत्कालीन कमलनाथ की सरकार ने पुरुषोत्तम शर्मा को पद से हटा दिया था। शर्मा फिलहाल प्रदेश के लोक अभियोजन विभाग के डीजी के पद पर इंदौर में तैनात है।
घटना के बाद शर्मा ने कुबूला है कि यह हादसा हुआ है। उन्‍होंने कहा कि मैंने कोई क्राइम नहीं किया है। ये मेरे और मेरी पत्नी के बीच का यह पारिवारिक मामला है।अगर वह मुझसे इतनी नाराज हैं तो मेरे साथ क्यों रहती हैं। मेरे पैसे का इस्तेमाल क्यों करती हैं? मेरे पैसों पर विदेश यात्राएं क्यों करती हैं? यह मेरा पारिवारिक मामला है, इसे मैं खुद सुलझा लूंगा, मैं मेरी पत्नी से लगातार संपर्क में हूं, मैं पूरी कोशिश कर रहा हूं कि यह मामला सुलझा लिया जाए। यह सेल्फ डिफेंस के तहत झूमा-झटकी का मामला है। मैंने कोई मारपीट नहीं की है, सिर्फ धक्का-मुक्की और झूमा-झटकी हुई है। वायरल वीडियो को लेकर कहा कि मेरी पत्नी और मेरा बेटा ही बता सकते हैं कि उन्होंने वीडियो क्यों वायरल किया। मेरी पत्नी ने पूरे घर में सीसीटीवी कैमरे लगा रखे हैं। मैं जहां जाता हूं , मेरा पीछा करती है मुझे स्टॉक करती है। मैं बहुत परेशान हूं, 2008 में भी उन्होंने मारपीट की शिकायत की थी। आज 12 साल बाद पता नहीं फिर उन्हें मुझसे क्या तकलीफ हो गई। अगर मुझसे वो इतनी दुखी थीं तो इतने साल मेरे साथ क्यों रहीं। यह मेरे लिए बहुत दुर्भाग्यपूर्ण हैं।
It’s my family matter,I accept everything,I m fed up of this relation…state govt free to take any action against me accordingly
डीजीपी पुरुषोत्तम शर्मा वाले मामले में गृह मंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा ने बयान दिया है कि उन्‍होंने उस मारपीट का वीडियो देखा और अखबार में समाचार पढ़ा भी है। श्री मिश्र ने बताया कि इस बारे में अगर कोई लिखित में शिकायत आएगी तो देखेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *